राज्य

इटावा - कमल संदेश यात्रा में हुई फायरिंग के मामले में ब्लॉक प्रमुख ने 25 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई

Publish Date: 06-12-2018 Total Views :97

इटावा

 

थाना क्षेत्र के ग्राम बहेड़ा में कमल संदेश यात्रा के दौरान भाजपा के दो गुटों में हुई फायरिंग के मामले में बुधवार को एक पक्ष ब्लॉक प्रमुख अशोक चौबे की ओर से 25 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। इसमें भाजपा नेता गोविंद त्रिपाठी, उनकी पत्नी और बेटा शामिल है। मामला ब्लॉक चुनाव की रंजिश का भी बताया जा रहा है। वहीं दूसरे पक्ष ने एसएसपी से मिलकर गुहार लगाई है।
नवादा खुर्द, बकेवर निवासी ब्लॉक प्रमुख महेबा अशोक चौबे पुत्र कृपा नारायण ने थाने में दर्ज कराई रिपोर्ट में बताया कि मंगलवार को भाजपा की ओर से ग्राम बहेड़ा में कमल संदेश यात्रा का कार्यक्रम चल रहा था, जिसमें बुंदेलखंड क्षेत्र के अध्यक्ष मानवेंद्र सिंह मुख्य अतिथि थे। क्षेत्रीय अध्यक्ष व जिलाध्यक्ष व विधायक के जाने के बाद वे गाड़ी में बैठ रहे थे। इसी दौरान गोविंद त्रिपाठी निवासी इकनौर, बबलू तिवारी, मनोज तिवारी पुत्र गण राधाकृष्ण निवासी दांदरपुर, योगेंद्र दुबे पुत्र कौशल किशोर निवासी इकघरा, देव नारायण पांडेय, रूप नारायण निवासी महेबा, रामप्रकाश दीक्षित निवासी जगमोहनपुर, हीरामनिया त्रिपाठी पुत्र संतकुमार, शिवम तिवारी पुत्र प्रेम नारायण निवासीगण निबाड़ीकला, विपिन त्रिपाठी पुत्र सुरेश त्रिपाठी निवासी बहेड़ा, श्याम त्रिपाठी पुत्र गोविंद त्रिपाठी निवासी इकनौर, गोलू तिवारी पुत्र ज्ञानेंद तिवारी निवासी बहेड़ा बकेवर व 12 अज्ञात लोग आ धमके। बबलू तिवारी, विपिन तिवारी, श्याम त्रिपाठी व योगेंद्र दुबे के हाथों में कट्टा और पिस्टल थी। ये सभी लोगों ने उनके ऊपर हमला कर दिया। फायरिंग की तो वे किसी तरह बचे।

इसी दौरान गोविंद त्रिपाठी ने उन्हें धमकी भी दी। मौके पर मौजूद जिला मीडिया प्रभारी जितेंद्र गौड़ को धारदार हथियार के प्रहार से घायल कर दिया गया। ब्लॉक प्रमुख की ओर से दी गई तहरीर में ब्लॉक प्रमुख पद की प्रत्याशी रहीं रीना त्रिपाठी पत्नी गोविंद त्रिपाठी का भी नाम शामिल किया है। पुलिस ने मामले में 25 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है।
बताया जाता है कि यह रंजिश ब्लॉक प्रमुख चुनाव से जुड़ी हुई है। चुनाव के बाद से ही भाजपा के दो गुट बन गए थे। इसी के तहत यह घटना हुई। मामले की विवेचक एसएसआई सतेंद्र सिंह भदौरिया ने बताया कि जांच की जा रही है। 

भाजपा नेता गोविंद त्रिपाठी ने बुधवार को एसएसपी अशोक कुमार त्रिपाठी से मुलाकात की है। यहां उन्होंने भाजपा जिलाध्यक्ष शिव महेश दुबे, ब्लॉक प्रमुख अशोक चौबे समेत 12 से अधिक लोगों के खिलाफ जानलेवा हमला करने का आरोप लगाते हुए प्रार्थनापत्र दिया।

जहां पर उन्होंने भाजपा जिला अध्यक्ष महेश दुबे और ब्लॉक प्रमुख अशोक चौबे समेत एक दर्जन से अधिक लोगों पर जानलेवा हमला करने का आरोप लगाते हुये प्रार्थना पत्र दिया।

गोविंद ने एसएसपी को बताया कि कमल संदेश यात्रा के दौरान बहेड़ा में क्षेत्रीय अध्यक्ष मानवेंद्र सिंह से जिला अध्यक्ष की शिकायत करने गए थे। क्षेत्रीय अध्यक्ष ने उनकी शिकायत सुनीं और उसके बाद वह चले गए। इसी बात से नाराज होकर भाजपा जिलाध्यक्ष शिव महेश दुबे व ब्लाक प्रमुख अशोक चौबे, दिनेश त्रिपाठी, अमित तिवारी, सोनू तिवारी, ऋषभ दुबे ने उनके ऊपर फायरिंग कर दी। वहीं, भाजपा के जिला उपाध्यक्ष कृपा नारायण तिवारी, मीडिया प्रभारी जितेंद्र गौड़ और उनके साथियों ने डंडों से हमलाकर दिया। फायर करने से उन्हें व उसके साथी प्रमोद त्रिपाठी निवासी इकनौर को चोटें आईं।

भाजपा जिलाध्यक्ष के दबाव में थाने में उनकी रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई और न ही डॉक्टरी परीक्षण कराया गया। गोविंद त्रिपाठी का कहना था कि उनके समर्थकों ने उन्हें सैफई में भर्ती कराया था, हालत में सुधार होने पर वे यहां पहुंचे हैं। एसएसपी ने मामले की जांच एसपी ग्रामीण को सौंपी है। जांच दो घंटे में पूरी कर रिपोर्ट देने को कहा है। अशोक त्रिपाठी का कहना है कि दोनों पक्ष एक ही पार्टी से हैं। इस पूरे मामले की जांच करायी जा रही है। दोषी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

news source by - amarujala.com