सोशल

इस दलदल का पानी पीने से दूर होते हैं रोग, पूजा करने से मिलता है संतान सुख

Publish Date: 05-04-2017 Total Views :74

इस

मंडला (उत्तम हिन्दू न्यूज): अभी तक आपने तरह तरह के मेले के बारे में देखा और सुना होगा, लेकिन आदिवासी बाहुल्य मध्य प्रदेश के मंडला जिले के दलदली माता के मंदिर में लगने वाला यह मेला बड़ा ही अदभुत और चमत्कारी माना जाता है। पौष माह के पूर्णिमा वाले दिन से पांच दिनों तक लगने वाले इस ख़ास मेले में संतान की चाह रखने वाले हजारों दंपति बड़ी शिद्दत के साथ दूर-दूर से यहां पहुंचकर मन्नत मांगते हैं। जिले के नैनपुर तहसील के अंतर्गत जेवनारा ग्राम पंचायत में दलदली माता का प्राचीन चमत्कारी मंदिर स्थित है। मंदिर के सामने की अधिकांश भूमि दलदली है, जिस पर पानी भरा हुआ है। लोगों का दावा है दलदली माता इसी स्थान से प्रकट हुई हैं इसलिए इस सिद्ध स्थान का नाम दलदली माता रखा गया है। लोगों की मानें तो दलदली माता से मन्नत मांगने पर संतान सुख मिलता है। इसके लिए निसंतान दंपति पहले मंदिर के सामने दलदल पर भरे पानी की पूजा करते हैं और उसके बाद मंदिर के बगल में पालने के सामने बैठकर संतान प्राप्ति की मन्नत मांगते हैं। मन्नत पूरी होने पर दंपति अपनी संतान के साथ पहुंचते हैं और संतानदायनी दलदली माता पर प्रसाद अर्पण करते हैं। लोगों का ये भी मानना है कि दलदल के ऊपर भरा पानी भी चमत्कारी है और इस पानी को पीने से सभी शारीरिक रोग दूर हो जाते हैं। संतानदायिनी कहे जाने वाली दलदली माता मंदिर के पुजारी की मानें तो माता का यह स्थान अति प्राचीन है। आसपास के जिलों के अलावा दिल्ली और दूसरे राज्यों से भी निसंतान दंपति अपनी मन्नत लेकर माता के मंदिर पहुंचते हैं और उनकी मन्नत पूरी भी होती है।