सोशल

क्या आपको पता है एक हिन्दुस्तानी ने लिखा था पाकिस्तान का राष्ट्रगान, जानिए..???

Publish Date: 11-08-2018 Total Views :110

क्या

हर साल 15 अगस्त को भारत में स्वतन्त्रता दिवस मनाया जाता है लेकिन वहीं बात की जाए पाकिस्तान की तो वहां पर हर साल 14 अगस्त को स्वतन्त्रता दिवस मनाया जाता है. इस बार पाकिस्तान में 72वां स्वतन्त्रता दिवस मनाया जाने वाला है.

जिसकी तैयारियों में पाकिस्तान के लोग जुट चुके हैं. हर साल पाकिस्तान में स्वतन्त्रता दिवस बहुत ही धूम-धाम से मनाया जाता है और इस बार भी यही तैयारियां हो रहीं हैं. आज हम आपको पाकिस्तान के स्वतन्त्रता दिवस से जुडी सबसे ख़ास बात बताने जा रहे हैं.

जी हाँ, दरअसल यह बात बहुत कम लोग जानते हैं कि पाकिस्तान के 'कोमी तराना' यानी राष्ट्रगान एक हिन्दू ने लिखा था. पाकिस्तान का राष्ट्रगान लिखने वाले व्यक्ति एक हिन्दू थे और साथ ही वह एक कृष्ण भक्त भी थे. उनका नाम हफीज जालंधरी था जो एक हिन्दू शायर थे. हफीज के द्वारा लिखा गया गान पाकिस्तान ने साल 1954 में अपना राष्ट्रगान घोषित कर दिया. हफीज को कृष्ण भक्ति के गीत लिखने के लिए पहचाना जाता था लेकिन उन्होंने पाकिस्तान का राष्ट्रगान भी लिखा था. हफीज का पूरा नाम अबू-अल-असर हफीज जालंधरी था. साल 1947 में जब भारत का विभाजनहुआ तो वह पाकिस्तान के लाहौर में रहने लगे और वहां उन्होंने बहुत से कृष्ण भक्ति गीत लिखे उनके रोम-रोम में कृष्ण भगवान बसे हुए थे.

उन्होंने पाकिस्तान का राष्ट्रगान तो लिखा लेकिन उसके बाद वह कृष्ण की भक्ति में डूब गए. हफ़ीज़ ने जब पाकिस्तान का राष्ट्रगान लिखा तो उन्होंने इस्लाम का ध्यान रखा लेकिन वह खुद इस्लाम से जुड़ नहीं पाए क्योंकि उनके अंग-अंग में कान्हा बसे हुए थे. उन्होंने 'कृष्ण कन्हैया' नाम की एक कविता भी लिखी जो आज भी लोग गुनगुनाते हैं.